मुंबई पर फिर जिहादी हमला – अगस्त २०११

चरमपंथी इस्लामिक जिहादी आतंकवादी हमला और छद्म युद्ध पर आवरण कथा प्रकाशित की गई है. इसमें जिहाद के तीन भागों अर्थात जिहादे असगर, जिहादे अकबर और जिहाद पर भी प्रकाश डाला गया है. इसके साथ ही जिहादी आतंकवाद के प्रति कांग्रेस की नरमी और आतंकवाद को भगवा रंग देने के षड्यंत्र को उजागर किया है. राष्ट्रीय पर्व ६४ वर्ष की आजादी और शब्द शक्ति का कालजयी जादू वन्दे मातरम्, राष्ट्र के नाम सन्देश, गरीबी रेखा बनाम संपन्न्ता रेखा, राव समाज के इतिहास की पहचान, तथा सावन मास के लोकप्रिय पर्व और कृष्ण तीर्थों की यात्रा, झुमा सावन फिल्मों में एवं डोपिंग का संकट, ओलम्पिक कबड्डी, सम्पादकीय आदि आलेख, लेख, समाचार, साहित्य बेहतरीन ज्ञानवर्धक व पाठकों के लिए रुचिकर है.

आपकी प्रतिक्रिया...