हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

थप्पड़

Continue Reading

  उस दिन मुझे मेरी गलतियां, मेरी नादानियां समझ आ गईं। उस दिन के बाद मैंने न तो किसी का मजाक बनाया और न किसी की तबीयत की हंसी ही उड़ाई। जिंदगी को मुझे कुछ सिखाना ही था तो ऐसे थप्पड़ मार कर सिखाने की क्या जरूरत थी। यह कहानी किसी को सच नहीं लगेगी। सब

चीनी माल का खुद बहिष्कार करें

Continue Reading

जहां तक संभव हो, आप स्वयं ही चीनी माल का बहिष्कार करें। खास तौर पर ऐसे सामान का बहिष्कार तो करना ही चाहिए, जिसे देसी कारीगर भी तैयार करते हैं। यह तात्कालिक तरीका हो सकता है। इसका स्थायी हल है देश में युवा उद्यमियों एवं विनिर्माण को बढ़ाना देना ताकि वे देश

उत्तर प्रदेश : साहित्यिक प्रदक्षिणा

Continue Reading

  साहित्य और रक्षा दो ऐसे क्षेत्र हैं, जिन पर उत्तर प्रदेश निवासी गौरव कर सकते हैं। संस्कृत से लेकर हिंदी और उर्दू की यह भूमि कर्मस्थली रही है। इस भूमि ने ऐसे-ऐसे नामवर साहित्यकार दिए हैं जिनका डंका आज भी बजता है। इसीलिए कहा जाता है कि ‘यहां

उत्तर प्रदेश में महिला सशक्तिकरण

Continue Reading

  उत्तर प्रदेश की योगी सरकार आधी आबादी के विकास के लिए दृढ़ संकल्पित है। राज्य में महिला बाल एवं विकास हेतु अनेक कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं। महिलाओं के आत्मसम्मान और अधिकारों की रक्षा के लिए भी नई सरकार ने कई कदम उठाए हैं। देश का सबसे

अद्भुत व्यक्तित्व के धनी अटलजी

Continue Reading

  १२ नवम्बर १९९५, मुंबई में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक चल रही थी। १९८९ की रथयात्रा तथा ढांचा गिराए जाने के बाद से ही मुख्य हीरो के तौर पर उभर रहे आर्गेनाइजर के पूर्व उप संपादक लालकृष्ण आडवाणी दूसरी बार पार्टी के अध्यक्ष थे। उस समय भारत

उत्तर प्रदेश कल आज कल

Continue Reading

  उत्तर प्रदेश भारत का एक विशिष्ट राज्य है। इस राज्य की विशेषताएं इसे अन्य प्रदेशों की अपेक्षा अलग एवं विशेष राज्य बनाती हैं। पौराणिक काल से लेकर अब तक उत्तर प्रदेश ने भारतीय जीवनशैली, धर्म और संस्कृति में अपनी विशेष छाप छोड़ी है। पिछले दस साल के

हर कोने में तीर्थ

Continue Reading

  उत्तर प्रदेश का कोना-कोना पर्यटन केन्द्र है। उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले प्रत्येक नगर और प्रत्येक गांव को पर्यटन का केन्द्र माना जा सकता है; क्योंकि यहां गांव, नगर, जनपद सब की अपनी अलग विशेषताएं हैं। ऐतिहासिक, राजनैतिक, सांस्कृतिक एवं आध्यात

पटना टु गांधीनगर

Continue Reading

  समग्र देश में सत्ता हासिल करने की भाजपा की दौड़ पटना होते हुए गांधीनगर तक पहुंची है। बिहार में नीतीश कुमार के साथ वह फिर काबिज है; जबकि गुजरात में राज्यसभा की तीसरी सीट दो कांग्रेसी विधायकों की बेवकूफी के कारण वह हार गई। चुनावों में हारजीत तो न

‘राम’ और ‘राष्ट्र’ के आराधक योगी आदित्यनाथ

Continue Reading

  योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बना कर भाजपा ने साफ संदेश दिया है कि कम से कम उच्च पदों पर ऐसे व्यक्ति होंगे जिन्हें सांसारिक लोभ डिगा न सके। सांसारिक लोभों के सम्मुख अविचल, अडिग रहने का मूलाधार संन्यास जनित तप से जन्मी सहकार, सहजीवन, सहअस्तित्व

उत्तर प्रदेश विजय के दो चाणक्य

Continue Reading

  उत्तर प्रदेश चुनाव में भाजपा की शानदार फतह के पीछे केंद्र सरकार की नीतियों की सफलता, अमित शाह की कुशल चुनावी रणनीति और जनता की इच्छा के साथ प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का सिर चढ़ता जादू भी है। इस तरह इन दोनों को उत्तर पद्रेश की जीत के चाणक्य कह

कर्तव्यनिष्ठ राजनेता

Continue Reading

  राम नाईक जी ने सक्रिय राजनीति में रहते हुए कई नए कार्यों की शुरुआत की थी। उदाहरणार्थ मुंबई के लिए बॉम्बे या बम्बई नाम का उल्लेख न कर असली नाम मुंबई ही कहना। राज्य सभा तथा लोकसभा में वंदे मातरम तथा जनगणमन के गायन की शुरुआत इत्यादि। इसी परम्परा

पूर्वांचल को राज्य नहीं, विकास चाहिए

Continue Reading

  पूर्वांचल की जनता उत्तर प्रदेश का विभाजन नहीं चाहती। भारत के राजनीतिक इतिहास में शायद यह पहली घटना है कि जब ‘पूर्वांचल प्रदेश’ बनाने का प्रस्ताव राज्य के विधान मंडल में पास होने के बाद भी, इस नए राज्य के लिए कोई उत्साह जनता में नही

End of content

No more pages to load

Close Menu