मनुष्य जीवन में त्याग का महत्व

Continue Readingमनुष्य जीवन में त्याग का महत्व

एक समय की बात है। एक नगर में एक  सुरेन्द्र नामक कंजूस व्यक्ति रहता था। उसकी कंजूसी सर्वप्रसिद्ध थी। वह खाने, पहनने तक में भी कंजूस था। एक बात उसके घर से एक कटोरी गुम हो गई। इसी कटोरी के दुःख में कंजूस ने 3 दिन तक कुछ न खाया।…

आधुनिक जीवन और मृत्यु का बदलता पैटर्न

Continue Readingआधुनिक जीवन और मृत्यु का बदलता पैटर्न

एक बेहतरीन गायक और शानदार शख्सियत कृष्णकुमार कुन्नाथ 'केके' मात्र 53 वर्ष की आयु में आज अचानक उस वक्त अपने फैंस को स्तब्ध छोड़कर हमेशा हमेशा के लिए शांत हो गए जब वे कोलकाता के एक लाइव कार्यक्रम में मंच पर परफॉर्म कर रहे थे। अपना सबसे पसंदीदा काम करते…

घमण्ड विद्वत्ता को नष्ट कर देता है

Continue Readingघमण्ड विद्वत्ता को नष्ट कर देता है

सबको पता है कि जीवन एक अस्थाई ठिकाना है लेकिन फिर भी पता नहीं किस बात का घमंड है। सबकी चाहत है की सारा ज़माना उनके क़दमों में हो पर उसके लिए अपना कोई ठिकाना तो हो। एक न एक दिन तुम्हारे शरीर को जल जाना है। हब सब इन्सान…

सफलता पुरुषार्थ के मूल्य पर मिलती है

Read more about the article सफलता पुरुषार्थ के मूल्य पर मिलती है
Businessman with flag on mountain top. Concept for success.
Continue Readingसफलता पुरुषार्थ के मूल्य पर मिलती है

यदि हम स्वास्थ्य, शिक्षा, संपन्नता,  सम्मान,  सफलता से वंचित रहते हैं तो इसके लिए दूसरों को दोष देना व्यर्थ है। गहराई से उन कारणों को तलाश करना चाहिए जिनके द्वारा विपन्नता विनिर्मित होती है । आलस्य, प्रमाद, उपेक्षा, उदासीनता, आवारागर्दी जैसे दुर्गुणों में लोग अपनी अधिकांश शक्तियाँ नष्ट करते रहते…

मोबाईल से बहुत कुछ छुट गया और बहुत कुछ छुट जायेगा

Continue Readingमोबाईल से बहुत कुछ छुट गया और बहुत कुछ छुट जायेगा

चश्मा साफ करते हुए उस बुजुर्ग ने अपनी पत्नी से कहा : हमारे जमाने में मोबाइल नहीं थे... पत्नी: पर ठीक 5 बजकर 55 मिनट पर मैं पानी का गिलास लेकर दरवाज़े पे आती और आप आ पहुँचते पति : मैंने तीस साल नौकरी की पर आज तक मैं ये…

अंदर की ख़ुशी का अहसास कीजिए!

Continue Readingअंदर की ख़ुशी का अहसास कीजिए!

खुश हो जाइए, क्योंकि आज (20 मार्च) 'अंतर्राष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस' है। आप अभाव में हों, तनाव में हों, अवसाद ने आपको घेर रखा हों फिर भी आप दिनभर हंसिए और खुशियां मनाइए! इस साल की थीम 'बिल्ड बैक हैप्पीयर' है, जो महामारी से वैश्विक स्वास्थ्य लाभ पर केंद्रित है। लेकिन,…

स्वामी विवेकानंद: कड़ी मेहनत, समर्पण और आध्यात्मिक शक्ति से बदल सकता है भारत

Continue Readingस्वामी विवेकानंद: कड़ी मेहनत, समर्पण और आध्यात्मिक शक्ति से बदल सकता है भारत

युवाओं के प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी 1863 को बंगाल में हुआ था। उनका बचपन का नाम नरेंद्र दत्त था। स्वामी विवेकानंद की जयंती को देश में राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन युवाओं को कुछ करने की प्रेरणा देता है। हमारे देश…

ब्रह्म मुहूर्त का महत्त्व

Continue Readingब्रह्म मुहूर्त का महत्त्व

सूर्योदय से चार घड़ी पूर्व यानी करीब डेढ़ घंटे पहले का समय ब्रह्म मुहूर्त होता है और हिन्दू धर्म में नींद त्यागने के लिए यह समय सबसे उपयुक्त समय बताया गया है। ब्रह्म मुहूर्त यानी सुबह करीब 4 से 5.30 तक का समय जब सभी को नींद त्यागनी चाहिए और…

क्या सचमुच 84 लाख योनियों में भटकना होता है?

Continue Readingक्या सचमुच 84 लाख योनियों में भटकना होता है?

हिन्दू धर्म की मान्यता के अनुसार जीवात्मा 84 लाख योनियों में भटकने के बाद मनुष्य जन्म पाता है। अब सवाल कई उठते हैं। पहला यह कि ये योनियां क्या होती हैं? दूसरा यह कि जैसे कोई बीज आम का है तो वह मरने के बाद भी तो आम का ही बीज बनता है…

भोजन के तुरंत बाद क्यों करना चाहिए वज्रासन?

Continue Readingभोजन के तुरंत बाद क्यों करना चाहिए वज्रासन?

  देश का हर दूसरा व्यक्ति बढ़ते पेट की समस्या से परेशान है कुछ लोग इस पर ध्यान नहीं देते है जबकि कुछ लोग पेट को अंदर करने के लिए बहुत मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी उनका पेट कम होने का नाम नहीं लेता है। अब अगर समस्या कम…

लातूर भूकंप की 28वीं बरसी: जब सो रहे लोगों पर बरपा था कहर

Continue Readingलातूर भूकंप की 28वीं बरसी: जब सो रहे लोगों पर बरपा था कहर

30 सितंबर 1993 की वह काली रात जिसने हजारों लोगों को काल के गाल में समा दिया। महाराष्ट्र के लातूर वासियों के लिए यह दिन किसी काले दिन से कम नहीं है जिसका दर्द वह आज भी दिलों में लिए घूम रहे है। 30 सितंबर 1993 को महाराष्ट्र के लातूर में…

भारी बारिश ने मचाया कहर, लोग पलायन करने को मजबूर

Continue Readingभारी बारिश ने मचाया कहर, लोग पलायन करने को मजबूर

देश में बारिश का कहर जारी है पिछले करीब 3 दिनों से लगातार बारिश हो रही है हालांकि इस बारिश से मुंबई और दिल्ली का हाल थोड़ा खराब है। दिल्ली में जहां जल जमाव से सड़कें रुक गयी है तो वहीं मुंबई में भी भारी बारिश की वजह से लोग अपने…

End of content

No more pages to load