उत्तर प्रदेश : साहित्यिक प्रदक्षिणा

Continue Reading उत्तर प्रदेश : साहित्यिक प्रदक्षिणा

  साहित्य और रक्षा दो ऐसे क्षेत्र हैं, जिन पर उत्तर प्रदेश निवासी गौरव कर सकते हैं। संस्कृत से लेकर हिंदी और उर्दू की यह भूमि कर्मस्थली रही है। इस भूमि ने ऐसे-ऐसे नामवर साहित्यकार दिए हैं जिनका डंका आज भी बजता है। इसीलिए कहा जाता है कि ‘यहां

उद्यमिता की विरासत : उत्तर प्रदेश

Continue Reading उद्यमिता की विरासत : उत्तर प्रदेश

    उद्यमिता की दृष्टि से उत्तर प्रदेश परम्परागत शिल्प के लिये प्रसिद्ध है। इन शिल्पों का विकास गृह एवं कुटीर उद्योग के रूप में ग्रामीण और छोटे कस्बों में हुआ। मशीनी युग में भी इन शिल्पियों ने अपनी परम्परा, अनूठी विशेषता और गुणवत्ता बनाये रख

तबादला

Continue Reading तबादला

मंत्री बांके बिहारी का दरबार सजा हुआ था। दरअसल जब भी मंत्री जी अपने घर आते, तो इलाके के सब अफसरान उनकी अर्दल में हाजिर होते। और जो अनुपस्थित होते, उनका बाकायदा नोटिस लिया जाता। उनका निजी सहायक तुरन्त फोन करता और मंत्री जी खरी-खोटी सुना देते। इसलिए ज्या

End of content

No more pages to load