पैसा और प्यार

Continue Reading पैसा और प्यार

कहा जाता है कि पैसे से प्यार नहीं खरीदा जा सकता। ज़ाहिर है यह प्यार का विचार है। पैसा इस बारे में क्या सोचता है, यह जानने के लिए मैंने पैसे बात की -

आर्थिक जगत के कृष्ण विवर

Continue Reading आर्थिक जगत के कृष्ण विवर

अन्तरिक्ष वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि ब्रह्माण्ड में कुछ ऐसे तारे भी हैं जो अपने प्रकाश को बाहर नहीं निकलने देते, इसलिए शक्तिशाली दूरबीन से भी दिखायी नहीं पड़ते।

रसोईघर में इमली की तलाश

Continue Reading रसोईघर में इमली की तलाश

मेरा मानना है कि राजनीतिक जीवन में विवादास्पद व्यक्तियों की जितनी अहमियत है उतनी ही गृहस्थी में पतियों के किचन प्रवेश की है। चर्चा में बने रहने के लिए गाहे-ब-गाहे दोनों जरूरी हैं।

तोहफा

Continue Reading तोहफा

‘मम्मी!’ कांच के गिलासों में बर्फ डालती शोभा ने आंखें उठायीं तो बबलू फिर खड़ा था, ‘मम्मी, अजू भी जा रहा है।’थकान और निराशा से बोझिल उसकी आवाज रुआंसी हो आयी थी।

उसकी आवाज

Continue Reading उसकी आवाज

फिन्टू रिरिया रहा था। उसकी आवाज में दर्द था। उसे लगा उसका बापू भी उसकी फरियाद को अनसुना कर रहा था, परन्तु वह थोड़े-थोड़े अन्तराल के बाद कराह उठता... बापू, मुझे किसी बड़े अस्पताल में ले चलो... दिल्ली न सही, चण्डीगढ़ ही ले चलो। यहां तो मैं मर जाऊंगा। यहां न कोई ढंग का अस्पताल है और न ही डॉक्टर... हाय वो परमात्मा ने क्यों मुझे पहाड़ों में फैंक दिया।

उपहार

Continue Reading उपहार

ऑफिस जाते-जाते प्रकाश को कुछ याद आ गया। अपनी पत्नी से बोला, ‘हां सुनो। शाम को पंकज अपनी शादी का रिसेप्शन फाइव स्टार होटल में करेगा, तैयार रहना। ऑफिस से आकर हम ऑटो करके वहां पहुंच जाएंगे।’

देवता

Continue Reading देवता

भवानी की मृत्यु बड़ी ही असाधारण परिस्थितियों में हुई थी। चांदनी रात थी और छोटी सी नदी का किनारा था। बहुत रात बीतने पर उगम ने घर जाने को निकले भवानी को रुकने का बहुत आग्रह किया पर उसने एक नहीं सुनी।

नर्मदा घाटी में सब कुछ है, बस नर्मदा नहीं!

Continue Reading नर्मदा घाटी में सब कुछ है, बस नर्मदा नहीं!

नर्मदा मध्यप्रदेश की जीवनरेखा है। प्रदेश के अनूपपुर जिले की मैकल पर्वतमाला पर स्थित प्रसिद्ध तीर्थ अमरकंटक इसका उद्गम है। यहीं से निकलकर नर्मदा गुजरात की खम्बात की खाड़ी से अरब सागर में समाहित हो जाती है।

तिब्बती अस्मिता के प्रतीक दलाई लामा

Continue Reading तिब्बती अस्मिता के प्रतीक दलाई लामा

चौदहवें दलाई लामा तेनजिन ग्यात्सो तिब्बत के आध्यात्मिक गुरू हैं। तिब्बतियों के लिए वे समूचे तिब्बत के प्रतीक हैं। वे तिब्बत की भूमि के सौंदर्य, उसकी नदियों, झीलों की पवित्रता, उसके आकाश की पुनीतता, उसके पर्वतों की दृढ़ता और उसके लोगों की ताकत के प्रतीक हैं।

अप्प दीपो भव

Continue Reading अप्प दीपो भव

जीवन में प्रकाश की महत्ता निर्विवादित, सर्वविदित एवं सर्वस्वीकार्य है। जीवन में जो शुभ व कल्याणकारी है, वह सब प्रकाश का स्वरूप है तथा जो अशुभ व अकल्याणकारी है उसे अन्धकार की संज्ञा से अभिहीत किया जाता है। हमारे जीवन में सदैव शुभ ही शुभ घटित होता रहे, इस हेतु हमें निरंतर प्रकाश की साधना करनी पड़ती है।

संघ विचारों की प्रेरणा से सफल होने वाला एक भारतीय अमेरिकी उद्यमी

Continue Reading संघ विचारों की प्रेरणा से सफल होने वाला एक भारतीय अमेरिकी उद्यमी

विदर्भ के नांदुरा के मूल निवासी श्री रमेश भूतड़ा अमेरिका के विकसित ह्यूस्टन शहर में एक सफल उद्यमी के रूप में जाने जाते हैं। उन्होंने ‘स्टार पाइप प्राडक्ट्स’ के नाम से वहां कारखाना लगाया, जो ख्यातिप्राप्त कर चुका है। वहां के समाज में भी उनका सम्माननीय स्थान है। विशेष यह कि श्री भूतड़ा संघ विचारों पर अमल करते हुए अपना व्यवसाय करते हैं। उनसे हुई बातचीत के अंश-

प्रवचन

Continue Reading प्रवचन

अभी सूर्योदय नहीं हुआ था मगर चारों ओर मटमैला प्रकाश फैलने लगा था। तमाम भिक्षु कलंदक झील में स्नान करने के उपरांत ‘वेणुवन’लौट आए थे।

End of content

No more pages to load